आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

27 September 2016

कांकायण वटी बिना ऑपरेशन पाइल्स को ठीक करने के लिए | Kankayan Vati to cure piles without operation


कांकायण वटी पाइल्स के लिए इस्तेमाल होने वाली प्रसिद्ध आयुर्वेदिक दवा है 

कांकायण वटी ख़ूनी और बादी दोनों तरह के बवासीर को ठीक करने में इस्तेमाल की जाती है. इसके इस्तेमाल से पाइल्स के मस्से सुख जाते हैं. पाचन शक्ति ठीक होती है और शरीर से मल का निष्कासन आसानी से होता है

इसके इस्तेमाल से कब्ज़ या Constipation की प्रॉब्लम दूर होती है जो की पाइल्स का मुख्य कारण होता है 

कांकायण वटी के इस्तेमाल से दर्द में राहत होता है, टॉयलेट आसानी से होता है और मलद्वार पर दबाव नहीं पड़ता 


इसके इस्तेमाल से पाइल्स की बीमारी जड़ से ठीक हो जाती है ऑपरेशन की ज़रूरत नहीं पड़ती

कांकायण वटी ब्लीडिंग को रोकती है, गुदा की सुजन और दर्द से राहत देती है 


कांकायण वटी का निर्माण बड़ी हर्रे की छाल, पीपल, काली मिर्च, सफ़ेद जीरा, पिपलामुल, चव्य, चित्रकमूल, सोंठ, शुद्ध भिलावा, जिमीकंद, जौक्षार और गुड़ के मिश्रण से होता है 

कांकायण वटी का डोज़ और इस्तेमाल करने का तरीका-

2 से 4 गोली तक 2 से 3 बार छाछ के साथ लेना चाहिए 

कांकायण वटी के साथ अगर 'अभयारिष्ट ' दो दो चम्मच दो बार भोजन के बाद एक कप पानी मिलाकर लिया जाये तो जल्दी फ़ायदा होता है


तो दोस्तों, ये थे कांकायण वटी के फ़ायदे बिना ऑपरेशन पाइल्स को ठीक करने के लिए

अगर किसी को पाइल्स की प्रॉब्लम है तो इसका इस्तेमाल करें और बीमारी को दूर करें  

नोट - कांकायण वटी दो तरह की होती है एक अर्श के लिए और दूसरी गुल्म के लिए, यहाँ कांकायण वटी अर्श के लिए बताई गयी है. 

(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin