आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

07 January 2017

Patanjali Youvan Churna Ke Fayde | पतंजलि यौवन चूर्ण के फ़ायदे


यौवन चूर्ण, जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है जवानी बनाये रखने वाला आयुर्वेदिक चूर्ण है 

इसके इस्तेमाल से पुरुषों के यौन रोगों में फ़ायदा होता है, कमज़ोरी दूर होती है, ताक़त बढ़ती है और शुक्र धातु को बढ़ाकर सेक्सुअल प्रॉब्लम को दूर करता है 

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानि इम्युनिटी पॉवर को बढ़ाता है और बीमारियों से बचाते हुवे यौवन या जवानी बनाये रखने में मदद करता है 

यौन शक्ति बढ़ाने वाली जानी मानी जड़ी बूटियों और खनिज का संतुलित मिश्रण है, इसमें सफ़ेद मुसली, सालम पंजा, सालम मिश्री, रूमी मस्तंगी, असगंध, क्षीर काकोली, गोंद कतीरा, पलाश, ज़हर मोहरा, लोहबान, बंग भस्म और मिश्री जैसी औषधियाँ मिलाई जाती हैं 

आईये अब जानते हैं पतंजलि यौवन चूर्ण के फ़ायदे - 


यह एक बेहतरीन कामोद्दीपक रसायन है, कामोत्तेजना लाता है और काम शक्ति को बढ़ाता है 

इसके इस्तेमाल से बल वीर्य की वृद्धि होती है, वीर्य की मात्रा और शुक्राणुओं की संख्या को बढ़ाता है 

नसों और मांसपेशियों को ताक़त देता है, जिस तनाव की कमी और शीघ्रपतन में फ़ायदा होता है 

यौवन प्रदान करता है और शरीर को निरोगी रखने में मदद करता है 

कमज़ोरी को दूर कर हेल्थ को इम्प्रूव करता है और वज़न बढ़ाने में मदद करता है 

इम्युनिटी पॉवर बढ़ाकर बीमारियों से बचाता है 


पतंजलि यौवन चूर्ण की मात्रा और सेवन विधि-

आधा से एक चम्मच तक दिन में दो बार सुबह शाम दूध के साथ लेना चाहिए, इसे खाना खाने के बाद लेना चाहिए 

पूरी तरह से आयुर्वेदिक सुरक्षित दवा है, लॉन्ग टाइम तक यूज़ कर सकते हैं 

डायबिटीज के रोगी और जिनका वज़न अधीक हो उन्हें इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए 

इसे पतंजलि स्टोर से या ऑनलाइन खरीद सकते हैं, ऑनलाइन ख़रीदने के लिए निचे दिए लिंक पर क्लीक करें - 

 - यहाँ क्लिक करें 

तो दोस्तों, ये थी आज की जानकारी पतंजलि यौवन चूर्ण के फ़ायदे और इस्तेमाल के बारे में 






loading...
(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin