आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

06 May 2017

मखाना के फ़ायदे | Lotus Seed Benefits in Hindi - Lakhaipur.com


मेवों के केटेगरी में आने वाला यह पदार्थ कई सारे पोषक गुणों से भरपूर होता है, इसकी पूरी जानकारी देने से पहले बता देना चाहूँगा इस से मिलते जुलते नाम की एक औषधि होती है तालमखाना, मखाना और तालमखाना दोनों अलग-अलग चीज़ है

तालमखाना अलसी के बीजों के रंग का छोटा-छोटा बीज होता है जो खासकर यौन शक्तिवर्धक दवाओं में  इस्तेमाल किया जाता है, तालमखाना को गो काँटा और कोकिलाक्ष कहा जाता है, जो की नदी और तालाबों के किनारे छोटा कंटीला पौधे के रूप में उगता है
जबकि मखाना वाटर लिली या एक तरह के फूल का बीज होता है जो पानी में उगता है, जिसे अंग्रेजी में Lotus Seed भी कहते हैं, आज हम इसी मखाने के फ़ायदे में जानेंगे -

वाटर लिली के बीजों को पॉप कॉर्न की तरह प्रोसेस किया जाता है और इसके बाद ही यह मार्किट में आता है जिसे हम यूज़ करते हैं. पानी में पैदा होने वाला यह बीज पोषक तत्वों से भरपूर होता है. इसमें प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट, फॉस्फोरस, आयरन, कैल्शियम और विटामिन B जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं

मखाना के गुणों की बात करें तो आयुर्वेदानुसार यह बल्य, बाजीकारक और ग्राही गुणों से भरपूर होता है

मखाना के फ़ायदे- 

यह महिला पुरुष सभी के लिए फ़ायदेमंद है, शीघ्रपतन से बचाता है और स्पर्म क्वालिटी और क्वांटिटी को सुधारता है, यौनेक्षा को बढ़ाता है. फीमेल इनफर्टिलिटी और ल्यूकोरिया में फ़ायदेमंद है

एंटी एजिंग और एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, हमेशा जवान बनाये रखने, बालों को काला रखने और झुर्रियों से बचाए रखने के लिए  इसका इस्तेमाल करना चाहिए
मखाना पचने में आसान होता है, पाचन शक्ति को ठीक करता है, घी में फ्राई कर खान इसे दस्त में फायदा होता है

लीवर, किडनी और हार्ट को प्रोटेक्ट करता है, शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालता है और कमजोरी दूर करता है

मखाना के रेगुलर इस्तेमाल से डायबिटीज और ब्लड प्रेशर में फ़ायदा होता है
कैल्शियम रिच होने से कमर दर्द, जोड़ों का दर्द और हड्डियों की कमज़ोरी में भी फ़ायदा होता है


मखाना को कई तरह से खाया जाता है, इसका चूर्ण बनाकर, इसे घी में फ्राई कर स्नैक्स की तरह या फिर खीर और लड्डू बनाकर भी खाया जाता है. मखाना का धार्मिक महत्त्व होने के कारन पूजा-पाठ और शादियों में भी इसका इस्तेमाल होता है. तो दोस्तों ये थी आज की जानकारी मखाना के बारे में, रोज़ एक मुट्ठी मखाना खाईये और स्वस्थ रहिये. निचे दिए गए लिंक से ऑनलाइन ख़रीद सकते हैं-




(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin