आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

09 July 2017

पतंजलि केश कान्ति तेल के फायदे | Patanjali Kesh Kanti Hair Oil Review in Hindi


पतंजलि आयुर्वेद का यह प्रोडक्ट हेयर प्रोब्लेम्स के लिए एक अच्छा विकल्प है जो बालों का गिरना कम करता है, बालों को काला, मज़बूत और चमकदार बनाता है और Dandruff को भी दूर करने में मदद करता है, तो आईये इसके बारे में पूरा डिटेल जानते हैं-

केश कान्ति तेल कई सारी जड़ी बूटियों के मिश्रण से बनाया गया है इसमें ब्रह्मी, आँवला, भृंगराज, मेहंदी, नीम की पत्ती, बहेड़ा, हर्रे, गिलोय, घृतकुमारी, जटामांसी, हल्दी, नागकेशर, बाकुची, गुड़हल, यष्टिमधु, रसौत, बच और नारियल का मिश्रण होता है. इसे तिल तेल के बेस पर बनाया गया है. खुशबु के लिए सुंगधित द्रव्य भी मिलाया गया है. 

भृंगराज, आँवला, जटामांसी जैसी औषधियों के मिश्रण से यह तेल काफी इफेक्टिव बन जाता है. 

केश कान्ति तेल के फ़ायदे- 

हल्के हरे रंग का यह तेल बालों को उचित पोषण देता है जिस से बालों का गिरना कमता है, बालों की जड़ मज़बूत होती है और बालों को काला और लम्बा बनाने में मदद करता है. 

हेयर फॉल के लिए लॉन्ग टाइम तक यूज़ करने पर अच्छा रिजल्ट मिलता है, तुरन्त चमत्कारी परिणाम नहीं मिलता. 

बालों को सिल्की और स्मूथ बनाता है, कंडीशनिंग प्रदान करता है. रुसी या Dandruff को भी दूर करने में मदद करता है. 

ब्रह्मी और बच जैसी जड़ी-बूटियाँ मिली होने से सर दर्द, टेंशन को दूर करने और अच्छी नींद लाने में भी मदद करता है. कुल मिलाकर देखा जाये तो यह एक अच्छा आयुर्वेदिक तेल है तो तिल तेल में बना होने पर भी अधीक चिप-चिपा नहीं होता. 

Watch here

बालों में शैम्पू करने या नहाने के बाद इसे बालों की जड़ों में और पुरे बाल में भी लगाना चाहिए. लगातार इस्तेमाल करते हुवे इसका पूरा फ़ायदा ले सकते हैं. 120 ml के पैक की कीमत 130 रुपया है, जो इसकी क्वालिटी के हिसाब से अधीक नहीं है. इसे पतंजलि स्टोर से या फिर निचे दिए गए लिंक से ऑनलाइन खरीद सकते हैं-


     


इसे भी जानिए -






(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin