भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

25 February 2018

वैद्य जी की डायरी # 2 स्वप्नदोष दूर करने का आयुर्वेदिक नुस्खा


स्वप्नदोष या एह्तेलाम जो है पुरुषों ख़ासकर युवाओं की बहुत ही कॉमन बीमारी है, जिसमे यह योग बहुत ही असरदार है, तो आईये जानते हैं इसकी पूरी डिटेल - 

स्वप्नदोष दूर करने का आयुर्वेदिक योग - 

वैद्य जी की डायरी में बताया गया नुस्खा, बना बनाया नहीं मिलता है इसे खुद से या फिर स्थानीय वैद्य जी से बनवाकर यूज़ कर सकते हैं, इसके लिए चाहिए होगा- 

शीतलचीनी, सफ़ेद चन्दन बुरादा, गोखुरू, इमली के बीजों की गिरी(भुनी हुयी), भीमसैनी कपूर और गिलोय सत्व प्रत्येक 20-20 ग्राम, सोना गेरू 40 ग्राम, त्रिफला चूर्ण 120 ग्राम और मिश्री 200 ग्राम.

बनाने का तरीका यह है कि सबसे पहले जड़ी-बूटियों का चूर्ण बना लें और उसके बाद गिलोय सत्व, पीसी मिश्री और त्रिफला मिक्स कर लें और सबसे लास्ट में कपूर को पीसकर अच्छी तरह से मिक्स कर एयर टाइट डब्बे में रख लें. 

मात्रा और सेवन विधि - 

तीन ग्राम इस चूर्ण को सुबह शाम पानी से लेना है खाना के बाद.  यह मसाने की हर तरह की गर्मी को दूर कर स्वप्नदोष को दूर करने वाला बेहतरीन योग है. हस्तमैथुन होने वाला स्वप्नदोष भी दूर होता है, इसके इस्तेमाल से पेशाब साफ़ आता है. 

इसके साथ में चंद्रप्रभा वटी और अश्वगंधारिष्ट भी ले सकते हैं. बिल्कुल सेफ़ और टेस्टेड फ़ॉर्मूला है, यूज़ कर फ़ायदा उठायें. 


इसे भी जानिए-







loading...
हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin