आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

23 July 2016

बिच्छू काटने पर क्या करें ? Bichhoo katne ka ilaj | Treatment of scorpion bite

bichhoo


बिच्छू काटने पर कितना दर्द और पीड़ा होती है यह तो वही जानता है जिसे कभी बिच्छू ने काटा हो. 

उम्मीद है कि आपने हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब कर लिया होगा, अगर नहीं किया है तो सबसे पहले इसे सब्सक्राइब कर लीजिये, वो इसलिए कि यहाँ आपको उपयोगी जानकारी मिलती है स्वस्थ रहने, रोगों को दूर करने और घरेलू उपाय के बारे में. 

तो आईये सबसे पहले जानते हैं कि क्या करना चाहिए अगर बिच्छू काट ले. बिच्छू अगर पैर या हाँथ में काटा है तो डंक वाली जगह से थोड़ा ऊपर पतली रस्सी से टाइट बांधना चाहिए. ऐसा करने से दर्द ऊपर की तरफ नहीं बढ़ता है. 

जहाँ पर बिच्छू काटता है वहां पर वो अपना डंक चुभा देता है, ये डंक छोटे कांटे की तरह होता है, अगर यह दीखता है तो इसे आप सुई से निकाल दीजिये. इसका डंक निकल जाने पर दर्द नहीं होगा क्योंकि सारा ज़हर इस डंक में ही होता है. 

इसे भी जानिए - साँप काटने पर ईलाज कैसे करें?

बिच्छू काटने पर असहनीय दर्द होता है इसे तुरंत दूर करने का सबसे बढ़िया तरीका है इंजेक्शन देना जहाँ पर बिच्छू ने काटा है. 

जी हाँ दोस्तों, इस अलोपथिक इंजेक्शन का नाम है 'ज़ाईलोकेन' (Xylocaine) - 2 % या  5 % कोई भी ले सकते हैं. एक नयी डिस्पोजेबल सिरिंज लेकर इसे एक से दो मिलिलीटर खींचिए और जहाँ पर बिच्छू ने काटा है वहां पर चमड़ी उठा कर इंजेक्शन दे दीजिये. 




इंजेक्शन देते ही रोता हुवा व्यक्ति हंसने लगता है, तुरंत ही दर्द काफ़ूर हो जाता है. यह इंजेक्शन अपने देश में हर जगह आसानी से मेडिकल शॉप पर मिल जाता है. इसे लेकर घर में रखना चाहिए क्या पता कब किसी के काम आ जाए. ये एक तरह का लोकल अनास्थेसिया का काम करता है. पर बिच्छू काटने पर वरदान है. (बिल्कुल नयी सिरिंज का ही इस्तेमाल करें, यूज़ की हुयी सिरिंज का भूल कर भी उपयोग न करें, संक्रामक रोग फैलने का खतरा हो सकता है)


बिच्छू काटने पर अगर खाने की दवा की बात की जाये तो इसके लिए एक होम्योपैथिक दवा बहुत ही कारगर है, जिसका नाम है साइलिशिया - 200 ( Silicea - 200) इसे रोगी की जुबान पर दो बूंद दीजिये दस मिनट के अंतराल पर सिर्फ तीन बार. 

इस दवा को देने से बिच्छू का डंक ख़ुद बाहर आ जाता है. 

किल चुभने, काँटा लगने, सुई चुभने, मधुमक्खी काटने इत्यादि में भी यह दवा बहुत कारगर है. इसे घर में आधा औंस रखना चाहिए बड़े ही काम की दवा है. किसी भी होम्योपैथिक मेडिकल स्टोर से आप इसे ले सकते हैं. 

बिच्छू काटे स्थान को गर्म पानी में रखने या गर्म पानी में रुमाल भीगा कर सेंकने से भी आराम मिलता है. 


तो दोस्तों, आज आपने जाना  बिच्छू काटने पर घरेलू उपचार के बारे में. इसके बारे में कोई सवाल हो तो कमेंट से पूछिये. 

जानकारी अच्छी लगी तो लाइक और शेयर ज़रूर करें. ऐसी ही दूसरी काम की जानकारी, घरेलू उपाय, आयुर्वेदिक फोर्मुले की अपडेट पाते रहने के लिए इस वेबसाइट  को सब्सक्राइब करना न भूलें. 

खुश रहिये, healthy रहिये यही हमारी कामना है. 









(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin