भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

30 March 2019

Kamshakti Vardhak Set | कामशक्ति वर्धक सेट


आज की इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में सेक्सुअल पॉवर या कामशक्ति की कमी होना युवाओं की कॉमन प्रॉब्लम हो गयी है. आज की इस पोस्ट में यौन शक्ति बढ़ाने वाली बेस्ट दवा के कम्पलीट सेट के बारे में जानकारी देने वाला हूँ जो शीघ्रपतन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, वीर्य विकार जैसी प्रॉब्लम को दूर करने में बेजोड़ है, तो आईये कामशक्ति वर्धक सेट के बारे में विस्तार से जानते हैं - 


कामशक्ति वर्धक सेट में चार तरह की दवा है. तीन तरह की खाने की गोली और एक लगाने की क्रीम होती है जिसकी डिटेल्स कुछ इस तरह से है -
कामशक्ति वर्धक सेट की औषधि

1) कामशक्ति केशरी वटी 60 गोली

2) नपुन्सक्त्वारि वटी 60 गोली  

3) वृहत कामेश्वर रस 60 गोली 

4) नवयौवन मलहम एक ट्यूब 


अब आईये जानते हैं इनकी डिटेल्स -

1) कामशक्ति केशरी वटी-  

इस वटी की बात करें तो यह सोना, चाँदी, हीरे-मोती जैसी कीमती चीज़ों से बनी बहुमूल्य औषधि है. कामशक्ति वर्धन या पॉवर-स्टैमिना को बढ़ाने के लिए यह एक बेजोड़ औषधि है. इस से शीघ्रपतन, नपुंसकता या नामर्दी, हस्तमैथुन से उत्पन्न हुयी कमज़ोरी दूर होती है. हर तरह की दवा खाकर निराश हो चुके रोगियों के लिए वरदान है.

कामशक्ति केशरी वटी के घटक - 

इसे स्वर्ण वर्क, हीरक भस्म, माणिक्य पिष्टी, वैक्रांत पिष्टी, नाग भस्म, कज्जली, रजत भस्म, अभ्रक भस्म, रस सिन्दूर, शुद्ध हिंगुल, तालमखाना, सालममिश्री, लौंग, केसर, सोंठ, जायफल, जावित्री, भाँग के बीज, कौंच बीज, दालचीनी, तेजपात, छोटी इलायची, अकरकरा, सफ़ेद जीरा, खुरासानी अजवायन, पीपल, रूमी मस्तगी, मालकांगनी, धतुरा बीज, शुद्ध बच्छनाग, शुद्ध कुचला, बहमन सुर्ख, शुद्ध विजया और त्रिफला के मिश्रण से बनाया जाता है.

2) नपुन्सक्त्वारि वटी- 

जैसा कि इसका नाम है नपुंसकता या नामर्दी को दूर करने और वीर्य विकारों के लिए यह बेस्ट है. इसके सेवन से इन्द्री की कमजोरी, सुस्ती, नामर्दी, ढीलापन, टेढ़ापन, नसों की उभार, शीघ्रपतन और वीर्य विकार दूर होकर कामशक्ति बढ़ जाती है. 

नपुन्सक्त्वारि वटी के घटक - 

इसे जावित्री, शतावर, सालम पंजा, गोखरू, तालमखाना, जुन्दबेदस्तर, लौंग, कपूर, शुद्ध कुचला, बंग भस्म, असगंध, शिलाजीत, जायफल और सफ़ेद मूसली के मिश्रण से बनाया जाता है और शतावर, कौंच बीज, गोखरू के क्वाथ की भावना दी जाती है.

3) वृहत कामेश्वर रस - 

यह भी स्वर्णयुक्त स्पेशल योग है जो यौन कमज़ोरी में बेहद असरदार है. यह रीप्रोडक्टिव सिस्टम को स्थायी शक्ति प्रदान करता है जिस से नसों की कमज़ोरी, ढीलापन और तनाव की कमी जैसी समस्या दूर होती है. 

4) नवयौवन मलहम - 

यह लगाने की दवा है जिसे आवश्यकतानुसार प्रयोग करना चाहिए. 


औषधियों की सेवन विधि - 

तीनों दवाओं की एक-एक गोली सुबह-शाम दूध से भोजन के बाद लेना चाहिए. इसके साथ में अगर 'दिर्घायु चूर्ण' भी लिया जाये तो अत्ति उत्तम. दवाओं को लेते हुवे दूध और पौष्टिक भोजन लेना चाहिए. सभी दवाओं को एक से तीन महिना तक सेवन करना चाहिए. 

स्थायी लाभ के लिए तीन महीने तक यूज़ करना चाहिए. एक महीने के कम्पलीट सेट की क़ीमत है सिर्फ़ दो हज़ार रूपये पार्सल या कूरियर चार्ज सहित. इसे घर बैठे मंगाने के लिए दिए गए Whatsapp नम्बर पर कांटेक्ट कर सकते हैं. 

Now Order Online - CLICK HERE

कामशक्ति वर्धक सेट मंगाने के लिए WhatsApp करें - 00971524115684 पर  अथवा ई मेल करें - info@lakhaipur.com 

एक महीने का दो हज़ार!! कुछ लोग कहेंगे इतनी महँगी, तो बता दूं कि स्वर्ण, मुक्ता और हीरक युक्त दवा है और बेजोड़ है. क्वालिटी के हिसाब से इसका दाम कम है. बीमारी दूर करने के लिए तो लोग लाखों ख़र्च करते हैं फिर भी फ़ायदा नहीं होता पर यह दवा 100% इफेक्टिव है पहले महीने से ही फ़ायदा दिखता है. सालों से प्रयोग करा रहा हूँ, इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं. 



तो दोस्तों, ये थी आज की जानकारी 'कामशक्ति वर्धक सेट' के बारे में जो शीघ्रपतन, वीर्यविकार और ढीलापन जैसी सभी तरह की प्रॉब्लम को दूर करने में बेजोड़ है. 


06 March 2019

Filarial Capsule | फ़ाइलेरियल कैप्सूल - फ़ाइलेरिया(हाथी पाँव) की असरदार औषधि



फ़ाइलेरिया को आयुर्वेद में श्लीपद कहते हैं आम बोल चाल में इसे हाथी पाँव के नाम से भी जाना जाता है. यह बहुत ही कष्टदायक रोग है जिसमे रोगी का पैर फूलकर मोटा हो जाता है जिस से चलने में बहुत परेशानी होती है. यह बीमारी शरीर में दूसरी जगह भी हो सकती है. फ़ाइलेरियल कैप्सूल इसमें बेहद असरदार है. फ़ाइलेरिया के कारन होने वाले अंडकोष की सुजन में भी लाभदायक है. सबसे पहले जानते हैं 

फ़ाइलेरियल कैप्सूल के घटक  कम्पोजीशन को - 

इसके प्रत्येक कैप्सूल में शाखोटक घनसत्व 250mg, शुण्ठी घनसत्व 100mg, हरड घनसत्व 100mg और गौमूत्र क्षार 50mg मिला होता है.

फ़ाइलेरियल कैप्सूल के लाभ - 

नए पुराने हर तरह के फ़ाइलेरिया में इसके लगातार सेवन से लाभ होता है और बीमारी दूर होती है. 

फ़ाइलेरिया के कारन होने वाली अंडकोष की सुजन या शरीर के किसी दुसरे भाग की सुजन में भी इस से फ़ायदा होता है. 

फ़ाइलेरियल कैप्सूल की मात्रा और सेवन विधि - 

1-2 कैप्सूल सुबह-शाम पानी या महामंजिष्ठारिष्ट के साथ रोग निर्मूल होने तक सेवन करना चाहिए. या फिर डॉक्टर की सलाह के अनुसार. इसे धैर्यपूर्वक लम्बे समय तक सेवन करने से ही बीमारी दूर होती है. 

इसके साथ में १-१ गोली सुबह-शाम 'नित्यानन्द रस' भी ले सकते हैं.

तुरन्त कोई चमत्कार नहीं होता, पर लगातार यूज़ करते रहने से रोगमुक्ति अवश्य होती है. रोगानुसार 3 से छह महिना या एक साल तक दवा खानी चाहिए. बिल्कुल सेफ़ दवा है, किसी भी तरह का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होता है. 

परहेज़- गरिष्ठ भोजन का त्याग करें तथा सुपाच्य भोजन का ग्रहण करें.

इसके 120 कैप्सूल की क़ीमत है क़रीब 400 रुपया जिसे आप ऑनलाइन ख़रीद सकते हैं, ऑनलाइन ख़रीदने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें 


इसे भी जानिए -