भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

08 October 2019

Kanyalohadi Vati Benefits | कन्यालोहादि वटी के गुण एवं उपयोग


कन्यालोहादि वटी लड़कियों और महिलाओं के लिए ख़ास आयुर्वेदिक औषधि है जो मासिक धर्म या पीरियड सम्बंधित सभी समस्याओं को दूर करने में बेजोड़ है. इसके सेवन से पीरियड का नहीं आना, पीरियड कम आना, पीरियड में दर्द होना, PCOS, PCOD जैसी समस्या दूर होती है. 

कन्यालोहादि वटी के घटक या कम्पोजीशन - 

इसे एलुआ, शुद्ध कसीस, दालचीनी, छोटी इलायची, सोंठ और गुलकन्द के मिश्रण से बनाया जाता है. 

कन्यालोहादि वटी के फ़ायदे- 

कन्या या कम उम्र की लड़कियों और महिलाओं के लिए यह औषधि वरदान समान है. मासिक धर्म या पीरियड की सभी परेशानियों को दूर करने में यह बेजोड़ है.

समय से पीरियड नहीं होना, पीरियड कम होना, पीरियड में दर्द होना, पीरियड देर से होना जैसी समस्या दूर करती है. 

यह खून की कमी को दूर करती है, गर्भाशय में रक्त प्रवाह को बढ़ाती है. 

पित्त दोष और वात को दूर करती है, शरीर को ठंडक देती है और कब्ज़ दूर करती है. 

कुल मिलाकर बस समझ लीजिये कि PCOS और पीरियड की समस्या के लिए यह एक बेहतरीन दवा है. 

कन्यालोहादि वटी की मात्रा और सेवन विधि - 

दो से तीन गोली तक सुबह शाम भोजन के बाद पानी से लेना चाहिए. कम पीरियड होने पर इसे रोज़ तीन बार तक भी लिया जा सकता है. प्रेगनेंसी में इसे नहीं लेना चाहिए. यह ऑनलाइन उपलब्ध है जिसका लिंक निचे दिया जा रहा है.