आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

24 September 2016

कौंच बीज के फ़ायदे, शीघ्रपतन और सेक्स रोगों में | Kaunch beej ke fayde jald discharge hone me | Benenfits of Kaunch beej


कौंच बीज को केवांच बीज के नाम से भी जाना जाता है आयुर्वेद मतानुसार कौंच बीज वीर्य बढ़ाने वाला, पुष्टिकारक, बलदायक, कफ़-पित्त नाशक और अत्यंत बाजीकारक मतलब वीर्य को देर तक रोकने वाला और टाइमिंग बढ़ाने वाला है.
कौंच बीज 

यह सेक्सुअल प्रॉब्लम के लिए बेहतरीन टॉनिक की तरह काम करता है और सेक्स पॉवर को बढ़ाता है, यह नेचुरल वियाग्रा की तरह काम करता है, पर वियाग्रा की तरह इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है, पूरी तरह सुरक्षित है 

कौंच बीज को इस्तेमाल से पहले शुद्ध किया जाता है, इसे शुद्ध करने का तरीका कुछ इस तरह है - 

कौंच बीज को दूध में उबाल ले, जब अच्छी तरह से उबाल जाये तो इसे धोकर इसका छिल्का हटा दें. इसके बाद सुखा कर कूट पिस कर पाउडर बना लें


अब जानते हैं इसका इस्तेमाल करने का तरीका-

कौंच बीज पाउडर को ऐसे भी ले सकते हैं. 5 ग्राम कौंच बीज पाउडर एक ग्लास मिश्री मिले हुवे दूध से सुबह शाम लेने से शीघ्रपतन, लिंग की कमज़ोरी, ढीलापन इत्यादि दूर होता है


कौंच बीज पाउडर, सफ़ेदमूसली पाउडर और असगंध पाउडर तीनों बराबर मात्रा में लेकर अच्छी मिक्स कर रख लें. इन तीनों को मिलाने से वियाग्रा से दस गुना ज्यादा पॉवरफुल हो जाता है यह मिश्रण

इसे एक-एक चम्मच सुबह शाम मिश्री मिले हलके गर्म दूध से लें और फिर चमत्कार देखें. 

इसके इस्तेमाल से हर तरह की सेक्स प्रॉब्लम दूर होती है और आप सेक्स ड्राइव का भरपूर मज़ा ले सकते हैं 


कौंच बीज का इस्तेमाल कौंच पाक जैसी शास्त्रीय आयुर्वेदिक औषधि के आलावा दूसरी दवाओं में भी होता है. कौंच बीज की पूरी, पकवान और लड्डू वगैरा भी बनाये जाते हैं. कौंच बीज, अश्वगंधा और सफ़ेद मुसली का कॉम्बो पैक ऑनलाइन ख़रीदें निचे दिए लिंक से- 



तो दोस्तों, ये हैं कौंच बीज के आसान से इस्तेमाल जिनसे आप सेक्स प्रॉब्लम को दूर कर जीवन का भरपूर आनंद ले सकते हैं. कौंच बीज चूर्ण ऑनलाइन खरीदें- 



इसे भी जानिए -


loading...
(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin