भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

06 July 2019

Jatiphaladi Vati(Stambhak) | जातिफलादि वटी (स्तंभक)


आज की जानकारी है जातिफलादि वटी(स्तंभक) के बारे जो वीर्यस्तम्भन करने वाली औषधि है. तो आईये जानते हैं इसके बारे में विस्तार से - 

आपमें से कई लोग जानते होंगे कि जातिफलादि वटी दो तरह की होती है. एक जातिफलादि वटी ग्राही या संग्रहणी वाली और दूसरी जातिफलादि वटी(स्तंभक) तो आज की जानकारी है जातिफलादि वटी(स्तंभक) के बारे में, सबसे पहले जानते हैं -

जातिफलादि वटी(स्तंभक) के घटक या कम्पोजीशन - 

यह अफीम प्रधान औषधि है, इसके कम्पोजीशन की बात करें तो इसे  बनाने के लिए चाहिए होता है जायफल, अकरकरा, सोंठ, शीतल चीनी, केशर, लौंग और सफ़ेद चन्दन प्रत्येक एक-एक भाग और शोधित अफ़ीम चार भाग

बनाने का तरीका यह होता है कि जड़ी-बूटियों का बारीक कपड़छन चूर्ण कर लें, केशर को खरल में डालकर पिस लें, इसके बाद शुद्ध अफ़ीम और जड़ी-बूटियों का चूर्ण अच्छी तरह मिक्स कर थोड़ा पानी मिक्स कर अच्छी तरह घुटाई कर दो-दो रत्ती या 250mg की गोलियाँ बनाकर छाया में सुखाकर रख लें.

जातिफलादि वटी(स्तंभक) के गुण 

आयुर्वेदानुसार यह स्तम्भक और संकोचक है, वात वाहिनी और शुक्रवाहिनी नाड़ियों पर इसका सबसे ज़्यादा असर होता है. 

जातिफलादि वटी(स्तंभक) के फ़ायदे 

स्तम्भन शक्ति बढ़ाने के लिए ही इसका प्रयोग किया जाता है. यह शीघ्रपतन नहीं होने देती.

जल्द डिस्चार्ज नहीं होने और शीघ्रपतन दूर करने के लिए वैद्यगन इसका प्रयोग सावधानीपूर्वक कराते हैं. 

इसके सेवन से पहले वीर्यवर्धक और पौष्टिक औषधियों का सेवन अवश्य करना चाहिए. 

जातिफलादि वटी(स्तंभक) की मात्रा और सेवन विधि - 

एक गोली सोने से एक घंटा पहले दूध, शहद या घी के साथ लेना चाहिए. यह अफ़ीम वाली दवा है तो इसका ज़्यादा इस्तेमाल नुकसान करता है और लेने के देने भी पड़ सकते हैं. 

इसका इस्तेमाल करते हुए और इस्तेमाल के बाद भी दूध, घी, मक्खन-मलाई का ज़्यादा इस्तेमाल करना चाहिए. इसे हफ्ता में एक से दो बार ही यूज़ करें. 

इसके साइड इफ़ेक्ट की बात करें तो शरीर की गर्मी बढ़ जाना, कमज़ोरी, चक्कर आना, किसी काम में मन नहीं लगना, चिडचिडापन जैसी प्रॉब्लम हो सकती है. इसे ऑनलाइन ख़रीद सकते हैं निचे दिए लिंक से - 








हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin