भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

13 March 2020

Amalki Rasayan Benefits in Hindi | आमलकी रसायन के बेजोड़ फ़ायदे


यह एक शास्त्रीय आयुर्वेदिक औषधि है जो लिवर, पाचन तंत्र, दिल, दिमाग, स्किन, आँख और बालों की बीमारियों के लिए बेहद असरदार है. तो आईये इसके बारे में विस्तार से जानते हैं - 

आमलकी रसायन जैसा कि इसके नाम से ही पता चलता है इसका मुख्य घटक आंवला होता है, आयुर्वेद में आमला को आमलकी भी कहा जाता है. आयुर्वेद में आवंला में आयुर्वेद की बहुत प्रशंसा है, इसके बेजोड़ गुणों के कारन ही इसे रसायन औषधि माना जाता है. 

आयुर्वेदिक ग्रन्थ 'रसतंत्र सार व सिद्ध प्रयोग संग्रह' का यह योग है जिसे तीन-चार तरीक़े से  बनाया जाता है. परन्तु सभी की समानता यह है कि सभी का मुख्य घटक आँवला ही है. दुसरे तरीक़ों में आँवला के अलावा पिप्पली, घी और मिश्री जैसे घटक होते हैं, यहाँ पर मैं सबसे ज़्यादा पॉपुलर और इफेक्टिव विधि के बारे में ही बताने वाला हूँ. 

आमलकी रसायन के घटक और निर्माण विधि 

आँवला चूर्ण और आँवला का रस 

गुठली निकालकर आँवला का बारीक चूर्ण बना लें और फिर इसमें आँवले के रस की भावना देकर पत्थर के खरल में घुटाई करें. इसी तरह से 21 भावना देकर छाया में सुखाकर अच्छी तरह से खरलकर रख लेना चाहिए. यही असली और पॉपुलर आमलकी रसायन है. 

आमलकी रसायन के गुण या प्रॉपर्टीज 

विटामिन सी की प्रचुर मात्रा होने के साथ-साथ इसमें कई तरह के गुण पाए जाते हैं जैसे - एंटी ऑक्सीडेंट, एन्टी एजिंग, Antacid या अम्ल पित्त नाशक, पाचक, लिवर-स्प्लीन को प्रोटेक्ट करने वाली और रसायन जैसे गुणों से भरपूर है. 

यह सौम्य और शीतल या तासीर में ठण्डी औषधि है जो बीमारीओं को दूर कर स्वास्थ की रक्षा करती है. 

आमलकी रसायन के फ़ायदे 

यह दिल, दिमाग, पेट, लिवर-स्प्लीन, आंख, स्किन से लेकर बालों के लिए भी असरदार औषधि है. 

पित्त दोष, शरीर की गर्मी, सीने की जलन, एसिडिटी, हाइपर एसिडिटी, पेप्टिक अल्सर इत्यादि को करती है. अक्सर वैद्यगण दुसरे योगों के साथ इसका सेवन कराते हैं. 

आँखों की बीमारी, बालों का गिरना, समय से पहले सफ़ेद होना, खून की कमी, हीमोग्लोबिन कम होना इत्यादि में भी इसके सेवन से अच्छा लाभ होता है. 

विधि पूर्वक इसका सेवन करने से चुस्ती-फुर्ती आती है और यौवन बना रहता है. 

आमलकी रसायन की मात्रा और सेवन विधि 

एक से तीन ग्राम तक सुबह-शाम गाय का घी, शहद या गर्म पानी से या फिर डॉक्टर की सलाह के अनुसार उचित अनुपान से लेना चाहिए. 

विधि पूर्वक  बने हुए आमलकी रसायन के 50 ग्राम की क़ीमत है सिर्फ़ 155 रुपया जिसका लिंक निचे दिया गया है. 

उच्च गुणवत्ता वाला आमलकी रसायन ऑनलाइन खरीदें- यहाँ क्लिक करें 



हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin