भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

23 अगस्त 2016

अविपत्तिकर चूर्ण के फ़ायदे | Avipattikar churna ke fayde | Health Benefits of avipattikar churna




आज मैं बताऊंगा एसिडिटी या अम्लपित्त की शास्त्रीय आयुर्वेदिक औषधि अविपत्तिकर चूर्ण के बारे में. 

वैसे तो यह बना बनाया मिल जाता है पर हम इसकी सही गुणवत्ता के लिए ख़ुद निर्माण करते हैं. इसे बनाने के लिए ये सारी जड़ी बूटी चाहिए होती हैं-


सोंठ, काली मिर्च, पीपल, हर्रे, बहेड़ा, आंवला, नागरमोथा, काला नमक, वायविडंग, छोटी इलायची और तेज़ पात प्रत्येक 10 ग्राम 
लौंग 110 ग्राम, निशोथ 440 ग्राम और मिश्री 660 ग्राम 

सभी को कूट पिस कर चूर्ण बना कर रख लें.

अब जानते हैं इसका डोज़ और इस्तेमाल कैसे करना है-

3 से 6 ग्राम तक सुबह शाम ठन्डे पानी या नारियल पानी के साथ. अगर संभव हो तो धारोष्ण दूध से भी ले सकते हैं.


अविपत्तिकर चूर्ण के फ़ायदे -

अम्लपित्त या एसिडिटी के लिए यह बहुत ही कारगर दवा है. अम्लपित्त के रोगी को सबसे पहले पेट साफ़ करने वाली दवा देकर इसे देने से बहुत फ़ायदा होता है.

एसिडिटी की घरेलु दवा 
Watch here with English Subtitle 

यह दवा पित्त विकारों के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है. एसिडिटी और उस से होने वाली प्रॉब्लम को दूर करता है. इसके इस्तेमाल से कब्ज़ या Constipation की प्रॉब्लम भी दूर होती है. इस चूर्ण के इस्तेमाल से पाचन ठीक होता है और भूख ख़ूब लगती है. इसे ऑनलाइन ख़रीदें निचे दिए लिंक से -

हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

 
Blog Widget by LinkWithin