आयुर्वेदिक दवाओं और जड़ी बूटी की जानकारी और बिमारियों को दूर करने के आयुर्वेदिक फ़ार्मूले और घरेलु नुस्खे की जानकारी हम यहाँ आपके लिए प्रस्तुत करते हैं

24 September 2017

डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर पिम्पल्स की आयुर्वेदिक दवा | Ayurvedic Medicine for Pimples & Glowing Skin


जी हाँ, जैसा कि इसका नाम है यह ब्लड प्योरीफ़ायर या खून साफ़ करने वाली दवा है जिस से पिम्पल्स और एक्ने वगैरह दूर होते हैं और त्वचा में निखार आता है. तो आईये जानते हैं इसके फ़ायदे और इस्तेमाल की पूरी डिटेल - 

डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर जड़ी-बूटियों से बना आयुर्वेदिक सिरप है जिसमे जानी-मानी रक्तशोधक औषधियों का मिश्रण है. इसके कम्पोजीशन की बात करें तो इसमे अनंतमूल, गुडूची, हल्दी, मंजीठ, नीम, खदिर और शहद का मिश्रण होता है, जिसे सिरप बेस पर बनाया गया है. 

सिंपल पर इफेक्टिव कॉम्बिनेशन, इसमें मिलायी गयी सारी जड़ी-बूटियाँ अपने गुणों में बेजोड़ हैं. 

अनंतमूल - अनंतमूल जिसे शारिवा भी कहा जाता है एक बेहतरीन रक्तशोधक है जो ब्लड से Toxins को बाहर निकालता है. क्लासिकल आयुर्वेदिक मेडिसिन शारिवाध्यारिष्ट का यह मेन इनग्रीडेंट होता है. 

गुडूची- गुडूची या गिलोय खून साफ़ करती है और एंटी ऑक्सीडेंट भी है, एंटी एजिंग है स्किन ग्लो करती है. 


हल्दी - हल्दी एक जानी-मानी खून साफ़ करने वाली दवा है और नेचुरल एंटी बायोटिक भी जो पिम्पल्स को दूर कर त्वचा में निखार लाती है. 

मंजीठ- मंजीठ जिसे मंजिष्ठा भी कहा जाता है खून साफ़ करने और स्किन डिजीज करने की इफेक्टिव औषधि है. अनल्जेसिक और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है. मंजिष्ठादि चूर्ण और महा मंजिष्ठारिष्ट जैसी क्लासिकल आयुर्वेदिक मेडिसिन का मुख्य घटक होता है. 

नीम - नीम के बारे में कौन नहीं जानता? नीम को पूरी दुनिया में ब्लड प्योरीफ़ायर के रूप में जाना जाता है. 

खदिर- खदिर या खदिर काष्ठ खून साफ़ करने और स्किन डिजीज दूर करने की दवा है. शरीर से बीमारियों को दूर करता है. खदिरारिष्ट नाम की क्लासिकल आयुर्वेदिक दवा का मेन इनग्रीडेंट होता है. 

शहद - इन सारी-जड़ी बूटियों के साथ शहद का मिश्रण इन सब के पॉवर को बढ़ा देता है. शहद स्किन के लिए भी एक बेहतरीन चीज़ है. यह इसके टेस्ट को भी बढ़ा देता है और Digestion भी ठीक कर देता है. 


डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर के फ़ायदे - 

डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर रियल में एक एक्टिव रक्तशोधक है. चेहरे पर होने वाले दाने, कील-मुहाँसे, पिम्पल्स और दाग धब्बों को दूर करता है. 

सिर्फ़ दो हफ़्तों में भी असर दिखाने लगता है और कुछ हफ़्तों के इस्तेमाल से फर्क देख सकते हैं. 

यह पिम्पल्स को दुबारा होने से रोकता है और स्किन ग्लो कर त्वचा में निखार लाता है. 

कुल मिलाकर देखा जाये तो मेरी राय में यह पिम्पल्स, एक्ने और स्किन प्रॉब्लम के लिए एक अच्छी दवा है जिसे लगातार कुछ महीने यूज़ कर पूरा लाभ ले सकते हैं. 

इसी तरह की दूसरी दवाएँ हैं हमदर्द की साफ़ी, बैद्यनाथ सुरक्ता, अनन्त सालसा वगैरह. 


डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर का डोज़-

2 स्पून या 15-20 ML तक रोज़ दो बार खाना के बाद, इसे ख़ाली पेट भी ले सकते हैं. यह बिल्कुल सेफ़ दवा है किसी तरह का कोई साइड इफ़ेक्ट या नुकसान नहीं होता है. कम से कम तीन महिना या लॉन्ग टाइम तक भी यूज़ कर सकते हैं. 

इसके साथ में कैशोर गुग्गुल, निम्बादी चूर्ण, हिमालया Talekt जैसी दवा भी ले सकते हैं. डाबर एक्टिव ब्लड प्योरीफ़ायर 100 ML और 200 ML का मिलता है, जिसे आयुर्वेदिक दवा दुकान से या ऑनलाइन ख़रीद सकते हैं निचे दिए लिंक से - 


इसे भी जानिए - 




(लखैपुर वेबसाइट के ऍनड्राइड ऐप प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें)
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...
Loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin