भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

28 June 2019

Panchamrit Lauh Guggul | पंचामृत लौह गुग्गुल - एक रसायन औषधि


पंचामृत लौह गुग्गुल आयुर्वेद में अपने कैटगरी की स्पेशल दवा है अपने यूनिक कम्पोजीशन की वजह से. यह गुग्गुल होते हुए भी बेजोड़ रसायन औषधि है. 

पंचामृत लौह गुग्गुल के घटक या कम्पोजीशन - 

इसे शुद्ध पारा, शुद्ध गंधक, रौप्य भस्म, अभ्रक भस्म, स्वर्णमाक्षिक भस्म प्रत्येक एक-एक भाग, लौह भस्म दो भाग और त्रिफला और गिलोय द्वारा शोधित शुद्ध गुग्गुल छह भाग के मिश्रण से बनाया जाता है. 

पंचामृत लौह गुग्गुल के फ़ायदे- 

यह हर तरह के वात रोग जैसे जोड़ों का दर्द, कमर दर्द, साइटिका, जकड़न इत्यादि को दूर करता है.

नर्व और नर्वस सिस्टम की कमज़ोरी, दिमाग की कमज़ोरी और इसकी वजह से होने वाले सर दर्द, नीन्द की कमी इत्यादि में लाभकारी है.

पेट की बीमारी जैसे गैस, लिवर-स्प्लीन की बीमारी, भूख की कमी, खून की कमी जैसी प्रॉब्लम को दूर कर हेल्थ इम्प्रूव करता है और ताक़त लाता है.

कुल मिलाकर देखा जाये तो चाँदी, अभ्रक, स्वर्णमाक्षिक और लौह भस्मों का सारा फ़ायदा इस एक दवा से मिल जाता है. 

पंचामृत लौह गुग्गुल की मात्रा और सेवन विधि - 

एक-एक गोली सुबह शाम दूध या रोगानुसार उचित अनुपान के साथ देना चाहिए. इसके आभाव में महायोगराज गुग्गुल का प्रयोग किया जा सकता है उचित अनुपान के साथ. यह ज़्यादा प्रचलित नहीं है, इसलिए सभी कंपनियाँ से नहीं बनाती. 
ऑनलाइन ख़रीदने का लिंक दिया गया है. 


हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin