भारत की सर्वश्रेष्ठ आयुर्वेदिक हिन्दी वेबसाइट लखैपुर डॉट कॉम पर आपका स्वागत है

29 April 2019

Migrain Cure Capsule | माइग्रेन क्योर कैप्सूल- सर दर्द/अधकपारी की चमत्कारी औषधि


आज एक स्पेशल दवा के बारे में आप जानेंगे जिसका नाम है माइग्रेन क्योर कैप्सूल. यह न सिर्फ माइग्रेन को दूर करता है बल्कि सर का भारीपन, आँखों का भारीपन और हर तरह के सर्द दर्द में बेहद असरदार है चाहे किसी भी कारन से ही दर्द हो, तो आइये माइग्रेन क्योर कैप्सूल के बारे में डिटेल्स जानते हैं - 

माइग्रेन क्योर कैप्सूल जैसा कि इसके नाम से ही पता चल जाता है कि यह किस बीमारी की दवा है. इसका कम्पोजीशन बेजोड़ है जो मार्केट में मिलने वाली किसी और दवा में नहीं दिखता है. 

माइग्रेन क्योर कैप्सूल के घटक या कम्पोजीशन - 

इसे सर दर्द की प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि पथ्यादि क्वाथ घनसत्व के अलावा शिरः शूलादिवज्र रस, गोदन्ती भस्म, स्वर्णमाक्षिक भस्म, कपर्दक भस्म और कामदुधा रस जैसी बेजोड़ औषधियों के मिश्रण से बनाया गया है.

माइग्रेन क्योर कैप्सूल के फ़ायदे -

माइग्रेन या आधेशीशी का दर्द जिसे अधकपारी या आधे सर का दर्द भी कहते हैं के लिए बेजोड़ है. 

पित्तज सर दर्द, अनन्तवात और सूर्यावर्त जिसमे जैसे-जैसे सूरज बढ़ता दर्द भी बढ़ता है में इसका सेवन करने से समस्या दूर होती है. 

सर का भारीपन, आँखों का भारीपन, सर में हल्का-हल्का दर्द बना रहना जैसे लक्षणों में इसका प्रयोग करना चाहिए. 

कुल मिलाकर बस यह समझ लीजिये कि कैसा भी सर दर्द हो, आधे सर का हो या पुरे सर का, या फिर किसी भी वजह से सर दर्द हो तो इसके सेवन से दूर हो जाता है. 

पुराने से पुराने सर दर्द को दूर करने में सक्षम है. 

माइग्रेन क्योर कैप्सूल की मात्रा और सेवन विधि - 

एक से दो कैप्सूल तक सुबह-शाम पानी से. बढ़ी हुयी कंडीशन में रोज़ तीन-चार बार तक भी दे सकते हैं. पुराने सर दर्द में लगातार कुछ महीने इसका इस्तेमाल करना चाहिए. बिल्कुल सुरक्षित औषधि है, किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट या नुकसान नहीं होने देती है. 

परहेज़- इसका सेवन करते हुवे पित्तवर्धक आहार-विहार, चाय-काफ़ी और सॉफ्ट ड्रिंक इत्यादि से परहेज़ करना चाहिए. 

इसके 60 कैप्सूल के पैक की कीमत है सिर्फ 200 रुपया जिसे आप ऑनलाइन ख़रीद सकते हैं  दिए गए लिंक से- https://www.lakhaipur.in/product/migrain-cure-capsule/


हमारे विशेषज्ञ आयुर्वेदिक डॉक्टर्स की टीम की सलाह पाने के लिए यहाँ क्लिक करें
Share This Info इस जानकारी को शेयर कीजिए
loading...

0 comments:

Post a Comment

 
Blog Widget by LinkWithin